ज्योतिषाचार्य पंडित विनोद चौबे

!!विशेष सूचना!!
नोट: इस ब्लाग में प्रकाशित कोई भी तथ्य, फोटो अथवा आलेख अथवा तोड़-मरोड़ कर कोई भी अंश हमारे बगैर अनुमति के प्रकाशित करना अथवा अपने नाम अथवा बेनामी तौर पर प्रकाशित करना दण्डनीय अपराध है। ऐसा पाये जाने पर कानूनी कार्यवाही करने को हमें बाध्य होना पड़ेगा। यदि कोई समाचार एजेन्सी, पत्र, पत्रिकाएं इस ब्लाग से कोई भी आलेख अपने समाचार पत्र में प्रकाशित करना चाहते हैं तो हमसे सम्पर्क कर अनुमती लेकर ही प्रकाशित करें।-ज्योतिषाचार्य पं. विनोद चौबे, सम्पादक ''ज्योतिष का सूर्य'' राष्ट्रीय मासिक पत्रिका,-भिलाई, दुर्ग (छ.ग.) मोबा.नं.09827198828
!!सदस्यता हेतु !!
.''ज्योतिष का सूर्य'' राष्ट्रीय मासिक पत्रिका के 'वार्षिक' सदस्यता हेतु संपूर्ण पता एवं उपरोक्त खाते में 220 रूपये 'Jyotish ka surya' के खाते में Oriental Bank of Commerce A/c No.14351131000227 जमाकर हमें सूचित करें।

ज्योतिष एवं वास्तु परामर्श हेतु संपर्क 09827198828 (निःशुल्क संपर्क न करें)

आप सभी प्रिय साथियों का स्नेह है..

रविवार, 30 अक्तूबर 2011

भिलाई में ब्लागरों का दिपावली मिलन आज संपन्न हुआ..

भिलाई में ब्लागरों का दिपावली मिलन आज संपन्न हुआ..
मित्रों आज सायं ६ बजे से ८ बजे तक भिलाई के होटल हिमालया में श्री संजीव तिवारी जी के संयोजन में दुर्ग भिलाई के सभी ब्लागरों की बैठक संपन्न हुई। जिसमें दिपावली मिलन एवं वरिष्ठ ब्लागरों ने ब्लाग को और कैसे बेहतरीन प्रस्तुत किया जाय , इस विषय पर चर्चा कर नवोदित ब्लागरों को दिशानिर्देशित भी किया गया।प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार अनिल पुष्डकर, छ.ग.के भण्डारण निगम के अध्यक्ष अशोक बजाजबबला जी ,  नीलमचंद सांखला (जिला न्यायाधीश, रायपुर), ज्योतिषाचार्य पं विनोद चौबे , संजीत त्रिपाठी , डब्बु मिश्रा, संतोष मिश्र,  अवधिया जी के अलावा केवल कोकस, और ई.टी.वी.के वैभव मिश्र सहित दर्जनों ब्लागर उपस्थित हुए।

3 टिप्‍पणियां:

अशोक बजाज ने कहा…

वाह पंडित जी आपका ब्लाग सबसे तेज है , शुक्रिया .

Sanjeeva Tiwari ने कहा…

धन्‍यवाद पंडित जी.

टिप्‍पणी में शब्‍द पुष्टिकरण हटा देवें, इससे पाठकों को टिप्‍पणी करने में असुविधा होती है।
विधि - लागईन - डैशबोर्ड - सेटिंग - कमेंट - शब्‍द पुष्टिकरण - नहीं (लागईन-डैशबोर्ड-सेटिंग-कमेंट-वर्ड वेरीफिकेशन-नो)

ज्योतिषाचार्य पं.विनोद चौबे ने कहा…

भाई अशोक जी एवं संजीव तिवारी आप दोनों वरेण्य जनों का सहृदय आभार..

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.