ज्योतिषाचार्य पंडित विनोद चौबे

!!विशेष सूचना!!
नोट: इस ब्लाग में प्रकाशित कोई भी तथ्य, फोटो अथवा आलेख अथवा तोड़-मरोड़ कर कोई भी अंश हमारे बगैर अनुमति के प्रकाशित करना अथवा अपने नाम अथवा बेनामी तौर पर प्रकाशित करना दण्डनीय अपराध है। ऐसा पाये जाने पर कानूनी कार्यवाही करने को हमें बाध्य होना पड़ेगा। यदि कोई समाचार एजेन्सी, पत्र, पत्रिकाएं इस ब्लाग से कोई भी आलेख अपने समाचार पत्र में प्रकाशित करना चाहते हैं तो हमसे सम्पर्क कर अनुमती लेकर ही प्रकाशित करें।-ज्योतिषाचार्य पं. विनोद चौबे, सम्पादक ''ज्योतिष का सूर्य'' राष्ट्रीय मासिक पत्रिका,-भिलाई, दुर्ग (छ.ग.) मोबा.नं.09827198828
!!सदस्यता हेतु !!
.''ज्योतिष का सूर्य'' राष्ट्रीय मासिक पत्रिका के 'वार्षिक' सदस्यता हेतु संपूर्ण पता एवं उपरोक्त खाते में 220 रूपये 'Jyotish ka surya' के खाते में Oriental Bank of Commerce A/c No.14351131000227 जमाकर हमें सूचित करें।

ज्योतिष एवं वास्तु परामर्श हेतु संपर्क 09827198828 (निःशुल्क संपर्क न करें)

आप सभी प्रिय साथियों का स्नेह है..

शनिवार, 15 अक्तूबर 2011

मौन व्रत पर जाएंगे अन्ना हजारे

 मौन व्रत पर जाएंगे

अन्ना हजारे

 

मजबूत लोकपाल कानून के लिए आंदोलन कर रहे अन्ना हजारे ने रविवार से अनिश्चितकाल के लिए मौन व्रत पर जाने का ऐलान कर दिया है। इस दौरान अन्ना अपने गांव में ही रहेंगे।

अन्ना ने कहा, 'अनशन के बाद से काफी लोग मुझसे मिलने आ रहे हैं और मैं लगातार बोल रहा हूं। अभी तक मैं पूरी तरह ठीक नहीं हो पाया हूं, इसलिए कुछ दिनों तक चुप रहूंगा।' जब अन्ना से पूछा गया कि मौन व्रत कितने दिनों तक चलेगा, तो उन्होंने कहा कि अभी यह तय नहीं है और जब वह अच्छा महसूस करने लगेंगे तो इसे खत्म कर देंगे। उन्होंने इसके साथ ही यह भी जोड़ा कि यह किसी पार्टी या व्यक्ति के खिलाफ नहीं है।

अन्‍ना हजारे पहले भी कई बार मौन व्रत कर चुके हैं। इस दौरान अन्ना चिठ्ठी लिखकर लोगों को अपनी बात बताते हैं।

इससे पहले अन्ना हजारे ने अपने सहयोगी अरविंद केजरीवाल के साथ हाल के घटनाक्रमों पर लंबी चर्चा की। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि टीम के सदस्यों पर हमला करने की धमकियां मिल रही हैं।

रालेगण सिद्धि में केजरीवाल ने कहा, 'शुक्रवार से हमें फोन और एसएमएस से कुछ लोग धमकियां दे रहे हैं। ये लोग हमपर और हमारे दफ्तर पर हमला करने की धमकी दे रहे हैं।'

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने इस मुद्दे पर टीम के अन्य सहयोगियों से चर्चा की है और यह फैसला किया है कि किसी तरह का हमला होने पर हम जवाबी कार्रवाई नहीं करेंगे।

केजरीवाल ने कहा, 'हमारा मानना है कि हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है। इसके बावजूद यदि कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि हम पर हमला करने से देश में भ्रष्टाचार की समस्याएं सुलझ जाएंगी तो, हम उनके हाथों मार खाने के लिए तैयार हैं।'

केजरीवाल ने कहा कि कार्यकर्ताओं को संगठन के कार्यालयों के बाहर खड़ा किया गया है। केजरीवाल ने इस तरह की घटनाओं को भ्रष्टाचार के खिलाफ चल रहे आंदोलन को पटरी से उतारने के लिए एक साजिश का हिस्सा करार दिया।

गौरतलब है कि प्रशांत भूषण के कश्मीर पर दिए गए बयान से नाराज कुछ लोगों ने दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट कैंपस में स्थित दफ्तर में उनकी पिटाई कर दी थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.